कलशारोहण व मंदिर जीर्णोद्धार कराने से महा पुन्यार्जन होता है :विरंजन सागर महराजकलश यात्रा से प्रांरभ हुआ याग मंडल बिधान व कलशारोहण का आयोजननगर मे श्री जी के साथ निकली भव्य कलश यात्रा।

विनोद कुमार जैन

बक्सवाहा: नगर में मुनिसुव्रत नाथ दिगंबर जैन बड़ा मंदिर कमेटी द्वारा आयोजित तीन दिवसीय याग मंडल बिधान और भव्य कलशारोहण कार्यक्रम का कलश यात्रा के साथ मंगलवार को प्रारंभ हुआ। याग मंडल बिधान के पहले दिन, सुबह 6:30 बजे से मंदिर में श्री जी की प्रछाल पूजन हुआ। 9बजे से कलश निष्टापन विधि आयोजित की गई और 1 बजे से कलश यात्रा का आयोजन किया गया।

कलश यात्रा दिगंबर बड़ा जैन मंदिर से प्रारंभ होते हुए पाटकार मुहल्ला, पुराना बस स्टैंड तक पहुंची। कार्यक्रम स्थान पर पंडाल शुद्धि, पंडाल और मंडप का उद्घाटन और ध्वजरोहण का कार्यक्रम आयोजित किया गया।

कार्यक्रम स्थल पर धर्मसभा को सम्बोधित करते हुये मुनि श्री विरंजन सागर महाराज ने कहा कि याग मंडल विधान और मंदिर का जीर्णोद्धार ल कलशारोहण कराने से महापुण्य प्राप्त होती है सभी विधानों में यह सर्वश्रेष्ठ विधान माना जाता है, क्योंकि इसी विधान से वेदी, शिखर और जिनबिंब जैसी सभी तरह प्रतिष्ठाएं होती हैं।

पाषण से जिन बिंब और आत्म को परमात्मा यही विधान बनाता है। इसमें तीनों लोकों की पूजा होती है। सच्चे मन से किसी विधान में बैठने से जीवन ही बदला जा सकता है।

इस बिधान मे राजेश – रश्मि फट्टा को सौधर्म इंद्र,पंकज – आराधना बन्ना को महा यज्ञनायक, राजकुमार – शोभा जैन यज्ञ नायक, राकेश कुमार – दर्शाना फट्टा को कुबेर, सुनील बन्ना – नीलम बन्ना को ईशान इंद्र , अंकुश-वर्षा फट्टा को सनत कुमार इंद्र, अशोक कुमार – साधना जैन महेन्द्र इंद्र , विनोद – ज्योति जैन को ब्रर्होन्द्र इंद्र, प्रकाश बन्ना रोशनी बन्ना को ब्रम्होरत्र इंद्र, विजय फट्टा – समता फट्टा को लान्तव इंद्र, प्रशांत – रोशनी निमानी को प्रात इंद्र की भूमिका निभाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ ।

रात्रि में समय सामूहिक महा आरती और सांस्कृतिक कार्यक्रम से सभी श्रद्धालु मनमोहन हो रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *